Total Pageviews

Monday, December 13, 2010

Srujan Se ke Mahila Visheshank hetu Rachna Amantran . Invitation for Contribution for Women Special Issue for Srijan se

मित्रो !
आपको प्र्स्सन्न्ता होगी कि हिंदी की मूर्धन्य पत्रिका "सृजन से "का अग्गामी अंक महिला विशेषांक होगा....
आपसे निवेदन है क़ि इस सामयिक विशेषांक हेतु महिला सम्बन्धी रचनाएँ भेजकर हमें अनुग्रहित कीजिएगा..
इस अंक का एक मकसद यह भी है क़ि उन महिलाओं को सामने लाया जाय जिन्होंने समाज के लिए काम किया किन्तु किन्ही कारण बस उन्हें वह पहचान नही मिली जिसके वे हकदार थीं इस अंक में महिला सम्बन्धी कथाएं, महिला सम्बन्धी कविताएँ, महिला सम्बन्धी लघु नाटक, महिला सम्बन्धी चित्रकला, आलेख, जीवनी, विचारोत्तेजक लेख (जैसे महिला अधिकार), भारतीय महिलाओं की Globalization में अहम भूमिका, ग्रामीण महिलाओं का आगामी दशकों में सामाजिक व आर्थिक क्षेत्र में नई भूमिका , विश्वीकरण में अंतरजातीय विवाह, तलाक से महिलाओं को विशेष त्रासदी , आधुनिक महिलाओं का विन विवाह के किसी मर्द के साथ में रहना का औचित्य, आधुनिकता और संस्कृति के बीच पिसतीं आधुनिक महिलाएं
जब महिलाओं को Commodity मान लिया जाता है . भारतीय गाथाओं, पुरातन साहित्य में महिलाओं क़ि भूमिका आज के साहित्य में महिलाओं को किस रूप में दर्शाया जा रहा है ?
क्या टी वी सीरियलों में महिलाओं को सही रूप से चित्रित किया जा रहा है ?

ग्रामीण महिलाओं का हिंदी फिल्मों में चरित्र चित्रं कहाँ तक सही होता रहा है ? महिला व्यंग्य चित्रकार . चित्रकार या अन्य कलाओं में महिलाओं का योगदान विभिन्न लोकबोलियों के लोक साहित्य में महिलाओं का चरित्र चित्रण भारत में महिला अधिकार आन्दोलन का इतिहास और सफलताएँ जैसे कई विषय हैं जिन पर आप अपनी रचना भेज सकते हैं.

आपसे निवेदन है क़ि आपने साहित्यिक मित्रों को सृजन से की इस पहल की सूचना दे कर हमे कृतार्थ कीजियेगा

संपर्क सूत्र
संपादिका श्रीमती मीना पांडे
M -3 M.I .G Flats, C61
Vaishnav Appartment
Shalimar garden II
Shahibabad
Ghaziabad
UP, pin 201005
Phone 9891542797

No comments:

Post a Comment